विद्यार्थी जीवन में इंटरनेट का महत्व

0
2352
आज यदि बात की जाए समाज में प्रत्येक व्यक्ति की जीवन प्रणाली में तेजी से हो रहे बदलाव की तो इसमें एक बड़ा कदम इंटरनेट का रहा है। समय में नये – नये बदलावों के साथ व्यक्तिगत जीवन में इंटरनेट का महत्व बढ़ता जा रहा है। आज इंटरनेट प्रत्येक व्यक्ति के जीवन की जरूरत बन चुका है और यही वजह है कि इंटरनेट का महत्व और उपयोग विद्यार्थी जीवन के लिए बढ़ता जा रहा है। ऐसे में विद्यार्थी के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल गलत ठहराना शायद उचित नहीं होगा। क्योंकि इंटरनेट आज इस स्तर तक पहुँच गया है जहां समाज में हर वर्ग, व्यक्ति और विद्यार्थी का इससे जुड़ना बेहद जरूरी है। इसके बिना व्यक्ति अपने बहुत से कार्यों को पूरा नहीं कर पाता। बात करें विद्यार्थी जीवन की तो आज इंटरनेट ने विद्यार्थी की बहुत हद तक मदद की है जिससे विद्यार्थी की बहुत सी कठिनाइयां सरलता में बदल गई है।
लेकिन हमें इंटरनेट के महत्व को समझने के लिए इसे उपयोगिता के आधार पर दो बिंदुओं से समझना होगा ।
• इंटरनेट का सदुपयोग
• इंटरनेट का दुरुपयोग

विद्यार्थी जीवन में यदि इंटरनेट का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाये तो यह विद्यार्थी के लिए बहुत मददगार सिद्ध होता है। इंटरनेट के द्वारा हम अपने विद्यार्थी जीवन में शिक्षा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी इंटरनेट द्वारा प्राप्त कर सकते हैं यहां तक कि अपना परीक्षा परिणाम और रोजगार से संबंधित जानकारी भी घर बैठे जान सकते हैं। इतना ही नहीं आज इंटरनेट के माध्यम से स्कूलों में पढ़ाई से संबंधित तकनीकों में बहुत अच्छा बदलाव हुआ है। जिससे शिक्षा का स्तर सुधर रहा है। विद्यार्थी अपने पढ़ाई संबंधी फॅार्म और प्रमाण पत्र बहुत आसानी से भरवा सकता है जो कि इंटरनेट के माध्यम से संभव हुआ है। जिससे विद्यार्थी का समय और पैसा दोनों में बचत होती है। इसके साथ साथ इंटरनेट के माध्यम से हम प्रेरणा और पढ़ाई संबंधी पुस्तकें पढ़ सकते हैं और अच्छी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सही शब्दों में कहें तो हम इंटरनेट का सदुपयोग जरुरत के अनुसार उचित प्रयोग कर के कर सकते हैं।
– इंटरनेट के इन सभी फायदों के अलावा यदि हम इंटरनेट से विद्यार्थी को होने वाले नुकसान के बारे में कहें तो ऐसा नहीं है कि इंटरनेट अपने आप में सही नहीं है – नहीं। बल्कि इसके कुछ दुरुपयोग हैं जिन्हें व्यक्ति स्वयं अपनाकर इंटरनेट को स्वयं के लिए नुकसानदायक बना लेता है। वहीं इसका थोड़ा सा भी गलत उपयोग विद्यार्थी को गलत रास्ते पर ले आता है। यदि इंटरनेट का उपयोग निश्चित समय सीमा और उचित समय पर नहीं किया जाता है तो यह विद्यार्थी की जरूरत से ज्यादा लत बन जाता है जिससे विद्यार्थी पढ़ाई के समय भी इसका थोड़ी – थोड़ी देर में इस्तेमाल करना चाहता है, जो कि पढ़ाई में बाधा बन जाता है। विद्यार्थी इंटरनेट से अधिक समय तक जुड़ा रहकर अपने कीमती समय को भूल जाता है और वह अपने बर्बाद हो रहे समय की ओर ध्यान नहीं दे पाता। इसके साथ साथ इंटरनेट के बहुत से दुरुपयोग है जो विद्यार्थी को अपनी पढ़ाई का असली महत्व समझने में बाधा बन जाते हैं।
इसलिए हमें चाहिए कि हम अपने विद्यार्थी जीवन में इंटरनेट का सही उपयोग करें। इसके लिए हम एक निश्चित समय सीमा तय करें जिससे अधिक समय तक हम इंटरनेट का उपयोग न करें। ऐसा करके ही हम इंटरनेट का सही सदुपयोग कर सकते हैं।
प्रिय विद्यार्थियो आपको हमारा यह लेख कैसा लगा आप अपनी राय comment box में लिखकर भेजें।

LEAVE A REPLY