कविता विद्यार्थी जीवन पर

4
812

प्रिय पाठको नमस्कार। आप सभी का thestudentmotive.com पर स्वागत है कि आप इस motivational platform पर पहुंचे।

आज हम आपके साथ विद्यार्थी जीवन से जुड़ी एक ओर कविता साझा कर रहे हैं। इससे पहले भी हमने एक रचना ( मैं जीना चाहता हूँ ,पूरी उम्र एक विद्यार्थी बन) जो कि विद्यार्थी के भावों की अभिव्यक्ति को बयां करती है, साझा की। इस रचना को आप सभी द्वारा बहुत सराहा गया , जिसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं ।

 

आपको बता दें कि यह Vinod sain द्वारा रचित उनकी दूसरी कविता है, जो www.thestudentmotive.com के संस्थापक और लेखक हैं।

 

प्रिय पाठको हम यह तो जानते ही हैं कि प्रत्येक कविता अपने थोड़े शब्दों से भी कितना कुछ बयाँ कर देती है, बस बात है तो उस रचना की गहराई में जाने की और उसे शांत मन से समझने की। लेकिन यह रचना बिल्कुल सरल शब्दों में लिखी गई है, जिसे आप आसानी से समझ सकते हैं।

 

विद्यार्थी हूँ, सह लेता हूँ।

 

चुन जिस मार्ग

चला हूँ मैं

सुना है बहुत बाधाएँ है

फिर भी अच्छा कह देता हूँ

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

 

 

खर्चे भी है इसमें

तन सिकुड़ जाता है

भूख का पता नहीं

फिर भी चुप रहता हूँ

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

 

 

नहीं जानता किस्मत

में क्या है

शायद कागज के टुकड़े

किस्मत बदल दे

तो मेहनत कर लेता हूँ

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

 

 

 

विद्यार्थी जीवन को

सफल बनाकर नई

रचूँगा एक कहानी

सोच यही आगे बढ़ लेता हूँ

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

 

 

अधूरे रह गए स्वप्न

तो क्या होगा मेरा

मात-पिता के टूटेंगे अरमा

सोच यह आँखें बह लेता हूँ

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

विद्यार्थी हूँ सह लेता हूँ।।

 

 

प्रिय पाठको हमारी यह भरपूर कोशिश रहती है कि हम आपके लिए अच्छी और बेहतर प्रेरणा संबंधी सामग्री लेकर आयें। शायद आप यह समझें कि यहां कोई नई चीज पढ़ने को नहीं मिलती तो भी आप गलत नहीं हैं। आपको बता दें कि प्रत्येक व्यक्ति अपने अंतरआत्मा की सुने और अपने अंदर झांकें तो वह महान शख्सियत रखता है। अर्थात् हमें इन बातों की समझ पहले से है। परन्तु इस व्यस्त ओर बाहरी जीवन में व्यक्ति अपनी शक्ति को भूल जाता है और इन मार्गदर्शन जुड़ी बातों को ignore कर देता है।

इसलिए यह वेब thestudentmotive.com केवल मात्र आपको उन बातों से रूबरू करवाने ओर उन्हें विचारने के लिए प्रयासरत है।

 

प्रिय पाठको आपको हमारी यह रचना कैसी लगी, आप हमें इससे संबंधित राय comment box में लिखकर अवश्य भेजें।

साथ ही इस रचना को social media व अपने साथियों में अवश्य साझा करें।

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY