खुश कैसे रहें (khush kese rhe)

23
717

“खुश कैसे रहें”– आज हम इस लेख के जरिए इस बात की गहराई तक पहुंचेंगे कि जिन्दगी में खुश कैसे रहें। प्रत्येक व्यक्ति कभी न कभी इस असमंजस में अवश्य घिरा होगा कि वह खुश कैसे रहे, अर्थात् कैसे वह अपने आप को तनाव मुक्त बनाये, कैसे अपने “गम” और “तनाव” को पीछे छोड़ खुश-दिल इंसान बने।

“खुश रहना आपका जन्मसिद्ध अधिकार है” यदि आपकी खुशी गम में बदल रही है तो ध्यान रहे खुशी संभाल कर रखना आपकी जिम्मेदारी है, क्योंकि आप इसके मालिक हैं।

आपका इस लेख तक पहुँचना यही बताता है कि या तो आपको खुशी की तलाश है या फिर आप अपनी इस खुशी को हमेशा बरकरार रखना चाहते हैं कि कहीं मामूली भूल से खुशी गम में न बदल जाये।

वैसे मनुष्य जीवन के “खुशी” और “गम” दो पहलू है, जो समय के साथ तब्दील  होते रहते हैं। लेकिन इस जीवन में मनुष्य को “खुश” रहने का पूर्ण अधिकार है, विपरीत इसके कि वह इस सुंदर मानव जीवन में कष्ट सहे या फिर मामूली बात से तनाव ग्रस रहे। परन्तु आज हमने मामूली भूल से अपने जीवन को तनाव और गम के जाल में इस तरह से फंसने को मजबूर कर दिया है कि, हमारे जीवन में खुशी का अकाल नजर आता है अर्थात् खुश रह पाना अब बहुत मुश्किल नजर आता है। इतना ही नहीं आज व्यक्ति दुख और तनाव को दूर करने की सोचने के विपरीत इस बात को लेकर दुखी हो जाता है कि अब वह “खुश कैसे रहें” – अर्थात कष्टों ने मनुष्य की मानसिकता को ऐसा बना दिया है कि उसके अनुरूप अब खुश रहना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन सा लगता है । लेकिन यह मानना सही साबित होगा कि खुश रहना नामुमकिन तो दूर, मुश्किल भी नहीं है – क्योंकि कभी खुशी कभी गम का यह दौर प्रत्येक प्राणी के जीवन में चलता रहता है। लेकिन महान और सर्वोत्तम तो वही व्यक्ति है जो दुख की घड़ी में भी स्वयं की सुंदर सोच और व्यवहार से खुश रहता है जिसके चेहरे पर हर समय मुस्कान बनी रहती है। और वही उसकी ऊर्जा है वही उसका आत्मविश्वास है। ऐसा व्यक्ति इस बात को जानता है कि खुशी की प्राप्ति झाड़ -फूंक या किसी बाह्य इलाज से नहीं की जा सकती बल्कि वह तो प्रत्येक प्राणी के अन्दर पहले से मौजूद है , गहरे गम के वक्त भी खुशी अपने स्थान पर कायम है बस जरूरत है तो उसे खोजने की-

तो आइए जानते हैं हर समय खुश कैसे रहें के बारे में कुछ खास बातें:-

Read also:- प्रेरणा का रहस्य

 

1. No soak up – only – put out of head.

जी हाँ सर्वप्रथम आपको चाहिए कि आप अतीत या वर्तमान की किसी भी घटना या फिर किसी द्वारा गुस्से में कही गई बात को अपने दिमाग पर (soak up) न लें क्योंकि ऐसा होना बिल्कुल सामान्य है और यदि आप इन बातों को दिमाग में लेते हैं तो इसके साथ कई अन्य नकारात्मक पहलू उजागर होंगे जो आपकी खुशी छीन लेंगे। इसलिए ऐसी बातों को दिमाग से बाहर (put out of head) कर देने में भलाई है और यदि किसी गलती की वजह से ऐसा हुआ है तो उसे सुधारने का प्रयास उत्तम है

2. यदि आप अपनी तुलना किसी अन्य व्यक्ति से करेंगे स्वयं को कमजोर समझेंगे या फिर उसके विपरीत अपने में कमियां निकालेंगे तो खुश रहना मुश्किल है। इसलिए वास्तव में आप बहुत अच्छे व्यक्तित्व और रवैये वाले इंसान है, और अपने आप को ओर अच्छा बनाने के प्रयास करते रहिये – बजाय तुलना करने के।

 

3. क्या बात हुई कि आप थोड़ी देर पहले खुश थे, लेकिन आपकी वह खुशी गम में बदल गई – इसलिए इस बात की जड़ तक पहुंचें कि आपके दुखी होने का मुख्य कारण क्या है और उसका निदान क्या है, अवश्य आपके गम को खुशी में तब्दील करने का हल मिलेगा।

 

4. आज का दिन सर्वोत्तम है, आज मेरे जीवन का सबसे सुंदर दिन है, आज मुझे खुलकर और आनंद के साथ जीना है – जी हाँ आपको अपने प्रत्येक दिन की शुरुआत इसी सोच के साथ करनी चाहिए।

 

5. आपको चाहिए कि आप जीवन की किसी भी ऐसी घटना या बात जो मन को ठेस पहुंचाती हो, को उलट पलट कर उसके नकारात्मक प्रभाव को दिलों दिमाग पर न लें बल्कि उसके सकारात्मक पहलू पर ध्यान देकर स्वयं को खुश रखने की कोशिश करें।

 

6. यदि आप किसी छोटी सी गलती हो जाने या किसी घटना से अपने आत्मविश्वास को गंवा बैठते हैं तो वहां आपकी खुश रहने और आगे बढ़ने की ऊर्जा खत्म हो जाती है। इसलिए स्वयं के आत्मविश्वास को तरोताजा रखें। क्योंकि यदि आप खुश हैं तो ऊर्जावान हैं, ऊर्जावान हैं तो आगे बढ़ने में सक्षम हैं और आगे बढ़ रहे हैं तो आप खुश हैं। अर्थात् सब एक दूसरे से जुड़ा है।

 

7. बुराई,ईर्ष्या,नफरत,गुस्सा इन सबको हमेशा के लिए स्वयं से दूर कर देना बेहतर है, क्योंकि यही सब हैं जो इंसान की खुशी को नष्ट कर देते हैं।

 

8. खुश रहने का सबसे सुंदर मंत्र यही है कि आप एक बच्चे की तरह जीवन जीये । हर समय अपने आप को सकारात्मक विचारों से जोड़े रखें और जीवन के प्रत्येक क्षण का भरपूर आनंद लेने की कोशिश करें।

 

इन बातों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें और खुश रहें:-

 

9. दिन भर के कार्यों की एक सूची बनायें और उन कार्यों को करने हेतु सर्वप्रथम चुनें जिनसे आपको अधिक खुशी मिले। ताकि दिन की शुरुआत बेहतर ढंग से हो सके।

10. अपने दिन का कुछ पल अपने परिवार के लोगों के साथ बिताएँ और आपस में खुलकर चर्चा करें

11. खाली समय में अधिक से अधिक प्रेरणादायक पुस्तकें पढ़ें और उन्हें अपने जीवन में उतारें।

12. हर रोज ऐसे लोगों और दोस्तों से मिलने की कोशिश करें जिनके अच्छे व्यक्तित्व और रवैये से आप प्रेरित हो सके और जीवन में आगे बढ़ने की शिक्षा ले सकें।

13. स्वयं को अधिक समय तक खाली रखने(आलस्य) की बजाय किसी न किसी कार्य में व्यस्त रखें। क्योंकि खाली समय में दिमाग बुरे और नकारात्मक विचारों पर अधिक मनन करता है।

14. दूसरों की खुशी में अपनी खुशी खोजें।

 

प्रिय पाठकों आपको हमारा यह लेख “खुश कैसे रहें” कैसा लगा हमें अपनी राय comment box में लिखकर अवश्य भेजें।

इस लेख को अपने दोस्तों में और social media पर share  करना न भूलें।

23 COMMENTS

  1. विनोद sir में अब ये नहीं कहूँगा की मुझे आपके पूरे artical में 1,2,3 या फिर 4 नंबर का fact पससंद आया ।

    क्योकि भाई ये पूरा artical ही ग्रेट है भाई रोना अ गया मुझे अपनी सोच पर ।

    अपने तो मेरी सोच ही बदल दी। सच में ये कोई normal artical नहीं है। ये बहुत ही motivational artical है।

    भाई बहुत बहुत धन्यवाद इस अनमोल पोस्ट को शेयर करने के लिए।

    में तो सभी रीडर से यही कहूँगा की आप इस पोस्ट को जल्दी जल्दी न रीड न करे । आप इस पोस्ट को पूरे धयान से रीड करे इर् हर एक fact को समझे । आपको भी लगेगा की मेने अभी तक की लाइफ में गुड feeling, से जीने के कितने मोके फालतू सी बातो में वेस्ट किये है।

    • धन्यवाद rupendra g
      मुझे इस बात से बहुत खुशी हुई कि आप यह सब अपने दिल की गहराई से लिख रहें हैं इस बात को आपका ऊपर लिखा गया प्रत्येक शब्द बयां कर रहा है।
      आपकी इस भावना से प्रत्येक व्यक्ति समझ सकता है कि आपके अन्दर ऐसे व्यक्तित्व की कोई कमी नहीं है – जो प्रत्येक क्षण कुछ न कुछ अच्छा सीखने और सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ने को लालायित रहता है।

  2. Hi, Dear Vinod sain apne kafi helpfully article share ki hai. thanks
    aapne jo use kar rahe ho yeh kitna me liya hai, mujhe bhi yehi thems buy karna hai, aapki pass toh isska copy
    hoga hi saied aapne jitna me liya hai agar me kuch paise aapko du aour aapki jo thems ka copy dedo toh mujhe baht help hota please.

    • Thanks nazrul g
      Sorry nazrul g ye newspaper theme h. Lekin ise mene buy nhi kiya h Q Ki mene apna web , web developer (Harpreet sir) se design krwaya h. Isliye mere pass iska copy Ni h..

  3. खुश रहने का सबसे सुंदर मंत्र यही है कि आप एक बच्चे की तरह जीवन जीये । हर समय अपने आप को सकारात्मक विचारों से जोड़े रखें और जीवन के प्रत्येक क्षण का भरपूर आनंद लेने की कोशिश करें।….

    अच्छा आर्टिकल लिखा है विनोद जी …..सभी के लिए फायदेमंद… सभी के लिए…….
    Keep it up

LEAVE A REPLY